Republic Day Speech गणतंत्र दिवस पर हिंदी में भाषण

0
37

26 January Speech in Hindi गणतंत्र दिवस के करीब आते ही स्कूल में पढ़ रहे बच्चें 26 January Essay, 26 January Bhashan, 26 january shayari ऑनलाइन सर्च करना शुरू कर देते हैं. ऐसे में उन सभी बच्चों के लिए गणतंत्र दिवस भाषण हिंदी में लिखा गया है, जो Teacher, Student और School सभी के लिए उपयोगी है Republic day speech in Hindi for school students. कई बार Exam Paper में भी Republic Day Par Essay लिखने को दिया जाता है.

Speech on Republic Day in Hindi 26 जनवरी गणतंत्र दिवस पर भाषण

भारत देश में तीन राष्ट्रिय पर्व मनाया जाता है. जिसमें से 26 January और 15 अगस्त दोनों ही अपने आप में बहुत बड़ा त्यौहार है. मुझे बहुत ही अच्छे से याद अपने स्कूल दिनों में 10 दिन पहले से भाषण लिखना शुरू हो जाता था. फिर उस भाषण को गुरूजी से चेक करवाना फाइनल होने के बाद उसे तैयार करना. मेरे कुछ दोस्त republic Day Speech तो याद करते थे. लेकिन, मुझसे न तो आज कुछ याद होता है न ही उस वक़्त !

मेरा भाषण बहुत ही क्रन्तिकारी होता था. मैं उसमें जिस शब्दों का इस्तेमाल करता था वो तो लाजवाब तो था ही साथ ही सही जगहों पर सही शब्दों का इस्तेमाल यह बहुत अच्छे से मैं कर लेता था. आप यदि इस Website का Regular User हो तो आपको जरूर पता होगा मेरा Writing Standard क्या है? इस वेबसाइट पर कुछ पोस्ट मेरे सहयोगी ने भी लिखा है. लेकिन, सभी पोस्ट को मैं खुद चेक करता हूँ तभी पब्लिश करता हूँ. यदि आप भी इस वेबसाइट पर अपना पोस्ट पब्लिश करवाना चाहते हो तो Click करें.

आज के इस पोस्ट 26 January Speech in Hindi में भाषण और भाषण लिखने के बारें में कुछ बातें बताता हूँ. आप इस 26 january Bhashan को भी अपने स्कूल या कॉलेज में 26 जनवरी (गणतंत्र दिवस) के दिन लोगों के सामने रख सकते हैं.

Hot Trending Topic

सरकारी नौकरी की तयारी कैसे करें

5 बातें जो आपको सफल होने से रोकते हैं उनसे कैसे बचें Success Tips

समय का सदुपयोग कैसे करें ? Importance Of Time

26 January Speech in Hindi

वंदेमातरम्, भारत माता की जय !!!

आदरणीय सभापति महोदय, इस पवित्र त्यौहार के मौके पर आपने मुझे अपने शब्दों को रखने का मौका प्रदान किया इसके लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद. गणतंत्र दिवस के शुभ अवसर पर इस प्रांगन में उपस्थित गणमान्य अथिति, गुरुजन और मेरे प्यारे सहपाठियों आप सभी को Guruji Tips (अपना नाम) की ओर से प्यार भरा नमस्कार!

जमाने भर में मिलते है आशिक कई, जमाने भर में मिलते है आशिक कई,
मगर मेरे वतन से खुबसूरत कोई सनम नही है.

26 जनवरी हम सभी देशवाशियों के लिए बहुत ही पवित्र पर्व है जो हमें याद दिलाता है कि हम सब विश्व के सबसे बड़े प्रजातंत्र देश के नागरिक हैं और स्वतंत्र हैं. गणतंत्र अथवा प्रजातंत्र का मतलब “जिसमें राजकीय सुविधाओं के लिए सब सामान है.” हम सब स्वतंत्र रहना चाहते हैं, प्रजातंत्र चाहते हैं. लेकिन यह प्रजातंत्र और स्वतंत्रता बहुत ही कठिन परिश्रम के बाद मिला है.

भारतीय स्वतंत्रता सेनानियों की कई वर्षों के संघर्ष, कड़ी मेहनत और कई जीवन न्योछावर करने के बाद भारत को 15 अगस्त 1947 को आज़ादी मिली. स्वतंत्रता के ढाई वर्ष बाद भारत सरकार ने स्वयं का संविधान लागु किया और भारत को एक प्रजातांत्रिक गणतंत्र घोषित किया.

2 वर्ष, 11 महीने और 18 दिन में कुल 114 दिन बैठक के बाद भारतीय संविधान तैयार किया गया. जिसे 26 जनवरी 1950 में संविधान सभा में पास किया गया और इसी दिन से हम प्रतिवर्ष 26 जनवरी को भारतीय गणतंत्र दिवस के रूप में मनाने लगे. आज हम सभी भारतवाशी 69वां गणतंत्र दिवस मना रहे हैं.

हमारे प्रथम राष्ट्रपति डॉ. राजेंद्र प्रसाद जिन्होंने कहा था, ” हमारे पूर्ण महान और विशाल देश के अधिकार को को हमने एक ही संविधान और संघ में पाया है जो देश में रहने वाले 320 लाख पुरुषों और महिलाओं के कल्याण की जिम्मेदारी लेता है.

यह बहुत ही शर्म की बात है कि आज आज़ादी के इतने वर्षों के बाद भी हम अपराध, भ्रष्टाचार और हिंसा से लड़ रहे हैं. 1947 के पहले हमारा देश बाहरी लोगों के गुलाम था लेकिन आज के समय में राजनेता और कुछ भ्रष्ट अधिकारिओं ने अपने ओहदे का गुलाम बनालिया है. यदि देश का विकास चाहिए तो यहाँ के लोगों का विकास होना बहुत जरूरी है. इसके लिए हम सभी को आगे आना होगा. देश में फैले रहे भ्रष्टाचार को ख़त्म करना होगा.

एक बहुत ही कड़वी सच्चाई आपको बताता हूँ, 1947 में द्वितीय विश्व युद्ध की वजह से हमारा देश आजाद हो गया वरना आज देश में ऐसी स्थिति पैदा हो गई है कि लोग अपने स्वार्थ के लिए कुछ भी करने को तैयार हैं. आप सभी को मेरे कहने का मतलब समझ आ गया होगा यदि नहीं तो सोने पहले पहले इस लाइन को एक बार फिर से पढना फिर भी समझ न आये तो मैं कुछ नहीं कर सकता !

मैं इसका हनुमान हूँ,
ये देश मेरा राम है,
छाती चीर के देख लो,
अन्दर बैठा हिन्दुस्तान है.

पूर्व राष्ट्रपति डॉ. ए. पी. जे अब्दुल कलाम जी ने कहा था कि अगर देश को भ्रष्टाचार मुक्त, महान और अच्छे ज्ञान वाले लोगों का बनाना है तो सोसाइटी से जुडी तीन चीजें माता, पिता, और शिक्षक को भ्रष्टाचार मुक्त, महान और अच्छे ज्ञान वाला बनना होगा.

इस संविधान में सर्वोच्च संवैधानिक सत्ता के रूप में राष्ट्रपति का पद भी बनाया गया जो स्वतंत्र भारत के संविधान के अनुसार भारत का सर्वोच्च शासक बना और संविधान में भारत को सर्वप्रभुतासपन्न लोकतंत्रात्मक गणराज्य भी घोषित किया गया. इस प्रकार की शासन व्यवस्था से भारत संसार का सबसे बड़ा स्वतंत्र गणतंत्र राज्य बन गया.

इस समारोह में एकत्रित हो ‘गणतंत्र दिवस’ मनाने का एकमात्र उद्देश्य देश के नागरिकों की स्वतंत्रता को सदैव बनाए रखने की प्रेरणा देना है ताकि देश में विभिन्नताओं में एकता, सहयोग, भाईचारे की भावना में वृद्धि हो सके. यह राष्ट्रीय पर्व हम सब को राष्ट्रीय स्वतंत्रता प्राप्ति आंदोलन में किए गए संघर्षों और बलिदानों की भी याद दिलाता है साथ ही स्वतंत्रता बनाए रखने की प्रेरणा देता है. यह दिवस हमारी राष्ट्रीय चेतना का प्रतीक है.

आपलोगों से कहने को तो अभी बहुत कुछ है लेकिन समय की सीमा को देखते हुए मुझे अपने शब्दों को विराम देना होगा.

इतनी सी बात हवाओं को बताएं रखना,

रौशनी होगी चिरागों को जलाएं रखना,

हलू देकर पाया जिसे हमने, लहू देकर पाया जिसे हमने,

ऐसे तिरंगे को सदा अपनी आँखों में बसाये रखना.

जय हिन्द, जय भारत !!!

You May Also Read

Top 10 Songs for 26 January Republic Day in Hindi

26 January Republic Day Shayari In Hindi

26 January Speech in Hindi गणतंत्र दिवस भाषण

26 जनवरी गणतंत्र दिवस पर नए नारे Slogans for Republic Day

गणतंत्र दिवस पर सुविचार 26 January Quotes in Hindi

26 January गणतंत्र दिवस क्यूँ मनाया जाता है?

India में Graduates बरोजगार क्यूँ हैं?

दोस्तों Republic Day Speech in Hindi आपको कैसा लगा ? हम आगे भी ऐसे Post Publish करते रहेंगे. इस Post को अपने सोशल मीडिया Profile पर जरूर शेयर करें ताकि आपके दोस्तों को भी भाषण तैयार करने में मदद मिल सकें.

People May Also Search For : 26 january speech in hindi, 26 जनवरी पर भाषण, republic day hindi speech, republic day speech for students, 26 january speech n hindi for school, gantantra diwasin hindi, 26 january par bhashan, republic day in hindi, short speech on republic day in hindi, speech on republic day in hindi For teacher, गणतंत्र दिवस पर भाषण, 26 january 2018, 26 january speech, 26 january in hindi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here